CTET Child Development And Pedagogy Important Questions Answers Part 1 July Exam

CTET Child Development And Pedagogy Important Questions Answers Part 1

CTET Child Development And Pedagogy Important Questions Answers Part 1, CTET बाल विकास और शिक्षाशास्त्र महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर:- हेलो दोस्तों आज हम आपको बताने वाले है की बाल विकास और शिक्षाशास्त्र के बारे में: – बालयवस्था में पहले कुछ वर्षो के दौरान मस्तिष्क बढ़ता है और काफी विकसित होने लगता है।  जब बच्चे की उम्र बढ़ने लगती है जैसे सोचने समझने की समता बढ़ती है और सक्षम नौजवान बन जाता है। आपके बच्चो की सीखने की प्रक्रिया और भावनाओ को प्रभावित करने में पर्यावरण की भूमिका का महत्व होता है।

बालयवस्था एक निश्चित क्रम है जो प्रत्‍येक प्रकिया से गुजरता है और धीरे धीरे बच्चा अपनी स्वंय की गति के अनुसार विकाश करेगा।  हालांकि कुछ दृष्टिकोण से देखा जाये तो  व्यवहार और लक्ष्य निश्चित रूप से उम्र के साथ साथ विकसित होता है।

आप लोगो को बता देते है की बच्चो के विकाश के प्रत्येक चरण में क्या क्या उम्मीद की जा सकती है। जैसे भाषा, भाव/ व्‍यवहार और सामाजिक संचार, सोचने समझने की गति, देखने और सुने का विवेक, संचालक आदि।

बालयवस्था में बच्चों की क्षमता और विकास को बढ़ाने के लिए कुछ निश्चित तत्वों की आवश्यकता होती है, जैसे सोचने समझने की क्षमता, किसी को महत्‍व दिए जाने की, सुरक्षित महसूस करने की, और मार्गदर्शन की, विविध माहौल में शामिल किए जाने की, प्यार किए जाने, और मनोविज्ञान, आज़ादी और बंधनों के संतुलित अनुभव दे।

और आप अपने बच्चो की किस प्रकार की मदद कर सकते है जैसे, अपने बच्चे सुरक्षित भौतिक वातावरण माहोल में रहे, और आयु के साथ साथ एक दिलचस्प और खेलने की सामग्री उपलब्ध कराये। बच्चो के पास शुद्ध भाषा का प्रयोग करे और उसे बाते करे उसे अपनी बात कहने के लिए उसे प्रेरित करे। बच्चे को उस पर ज्यादा प्रतिबंद नहीं लगाये और  बच्‍चे की क्षमताओं के प्रति तर्कसंगत उम्‍मीदें रखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »